Cloud computing क्या है? इसके फायदे और नुकसान? What is cloud computing in hindi

Image Source – Canva | Image by – CANVA

हेलो दोस्तों कैसे आप सब आज कि इस पोस्ट में हम जानने वाले है कि Cloud computing  क्या है (what is cloud computing in hindi), Cloud computing कैसे काम करती है? Cloud computing सेवाएं क्या उपलब्ध हैं?, Cloud computingके उदाहरण क्या हैं? Cloud computing kya hai in hindi

इसे Cloud computing क्यों कहा जाता है? Cloud computing का इतिहास क्या है? बादल कितना महत्वपूर्ण है? Cloud computing के लाभ, Cloud computing के नुकसान चलिए समझते है, Cloud computing का उपयोग कौन कर रहा है?
Content details
  • Types of cloud computing
  • cloud computing ka itihas
  • cloud computing ke fayde
  • cloud computing ke example

Cloud computing क्या है (what is cloud computing in hindi)

यदि मैं आपको Short form में बताऊ तो कंप्यूटिंग सेवाओं की डिलीवरी करना Cloud computing कहलाता है इन कंप्यूटिंग सेवाओं में Storage, database, networking, server, software, analytics और Intelligence आदि शामिल हैं 
Cloud computing का उपयोग Internet में Innovation, Flexible Resources और पैमाने की अर्थव्यवस्थाओं की पेशकश करने के लिए होता है 
दूसरी भाषा में Cloud computingपे-ए-यू-गो प्राइसिंग के साथ Internet पर कंप्यूटर सेवाओं की On demand डिलीवरी है। Cloud computing एक Virtual space के रूप में जो दुनिया भर के उपयोगकर्ताओं को जोड़ता है
आपको इन कंप्यूटिंग सेवाओं के बदले पैसे भुगतान करने की जरुरत होती है ये पैसे जायज भी है क्युकि ये आपकी जरूरतों को समय के साथ और एकदम सही तरीके से करने में मदद करते है आपके बुनियादी ढांचे को अधिक कुशलता से चलाते हैं 
जैसा कि हम सब जानते है कि Business करने का ढंग तेजी के बदलता रहता है ठीक उसी प्रकार ये भी समयानुसार बदलती रहती है और आपको Update रखती है
Cloud computing, Internet पर उपस्थित कई User के लिए उपलब्ध डेटा केंद्रों के बारे में बताने के लिए किया जाता है Internet एक Cloud की तरह है, जो Satellite network के माध्यम से जानकारी साझा करता है।
Cloud computing की सफलता में दो चीजों का बहुत बड़ा योगदान है 
इसमें Internet का बहुत योगदान रहा है वो भी जब से तेज गति के Internet का उपयोग होना शुरू हुआ है जैसे कि कम्प्यूट इंस्टेंस का Virtualization हुआ इसमें जैसे जैसे तकनिकी विकसित हुई और तेजी से बुस्ट मिला है 
जैसे निर्माण और निवेश करने से बुनियादी ढांचा बनता है परिणामस्वरूप अर्थव्यवस्थाएं बनती हैं ठीक उसी तरह Cloud computing उन सभी सामग्रियों को ले सकता है जो एक डाटा सेंटर को बनाती है इसलिए यूजर उन सभी चीजों को आसानी से Access कर सकते है
                      

Cloud computing कैसे काम करती है? (How Cloud Computing Works in Hindi)

Cloud computing एक एप्लीकेशन-आधारित Software infrastructure है जो रिमोट सर्व पर डेटा स्टोर करता है, जिसे Internet के माध्यम से एक्सेस किया जा सकता है। 
यह समझने के लिए कि Cloud computing कैसे काम करती है, इसे Front end और Back end से अलग किया जाता है
Front end का उपयोग करने से User cloud में संग्रहीत डेटा को Access कर सकता है इस काम में वो Internet browser या Cloud computing software का उपयोग कर सकता है 
डेटा और सूचना को बिलकुल safe तरीके से सेव करने के लिए Cloud computing के प्राथमिक घटक को जाना जाता है इसमें Server, computer, database और केंद्रीय सर्वर शामिल हैं।
उपकरणों और कंप्यूटरों के बीच एक कनेक्शन बनाने के लिए ये एक Software, middleware का उपयोग करता है। जिसमे ये उपकरण Cloud computing के जरिए जुड़े होते है
जो भी सर्विस प्रोवाइडर Cloud Computing सर्विस देते है वो हमेशा सुरक्षा, डेटा हानि, डेटा उल्लंघन, आदि को कम या समाप्त करने के लिए डेटा की कई प्रतियां बनाए रखते हैं।
Cloud computing कैसे काम करती है इसको समझने के लिए मैं आपको एक कहानी सुनाता हु कल्पना कीजिये आप एक बड़ी कंपनी में काम करते है और वहां पर एक Head position पर नियुक्त है 
आपका काम ये है कि जो भी worker आपके नीचे काम कर रहे है उनके पास सही Hardware और Software हैं या नहीं इसको पता लगाना यदि आप पाते है कि उनके पास वो चीजे नहीं तो आपको वो सभी चीजे उन्हें खरीद कर देनी होगी
आपको Software के साथ-साथ Software license भी खरीदने होंगे और फिर अपने कर्मचारियों को ये Software प्रदान करने होंगे। कब तक वो License valid है इसकी भी जाँच करनी होगी समय समय पर उसे Update भी करना होगा 
आप भी जानते होंगे कि Hardware और Software का यूज़ करने के लिए कंप्यूटर की आवश्यकता होती है आपको अपने कर्मचारियों को कंप्यूटर भी खरीद कर देने होंगे समय समय कंप्यूटर की भी मरम्मत करानी होगी 
मुझे पता होगा इतना सब सुनकर आपको चक्कर आ गए होंगे जाहिर सी बात है आप ऐसी नौकरी नहीं करना चाहेंगे क्युकि ये बहुत तनावपूर्ण है और इसमें आपके बहुत ज्यादा पैसे भी खत्म होंगे 
लेकिन रुकिए रुकिए, अभी भी आपके लिए एक Option बचा है जिससे आपको ज्यादा तनाव लेने की जरुरत नहीं है न ही ज्यादा पैसे खत्म करने की। 
आपको कंप्यूटर के लिए Software का एक सूट स्थापित करने के बजाय, आपको बस एक Application install करना होगा। यह Application में कर्मचारियों को एक वेब-आधारित सेवा में log in करना होगा, जिसमे यूजर को उसके काम के लिए आवश्यक सभी कार्यक्रम उसमे बताये जायेंगे। 
किसी अन्य कंपनी के रिमोट सर्वर और E-mail से Word processing से लेकर कठिन डेटा विश्लेषण कार्यक्रमों तक सब कुछ चलेगा। इसे “Cloud computing” कहा जाता है, और इस तरह यह पूरे कंप्यूटर उद्योग को बूस्ट देता है। अब आप समझ गए होंगे कि Cloud computing कैसे काम करती है

Cloud computing का इतिहास (History of Cloud Computing in Hindi)

Cloud computing 1960 के दशक में शुरू हुई जब पहली बार “Intergalactic computer network” के बारे में बताया गया था 
लगभग 1961 में, John mccarthy ने MIT(Massachusetts Institute of Technology) में एक भाषण में सुझाव दिया कि Computing को पानी या बिजली की तरह ही तरह बेचा जा सकता है। यह एक शानदार विचार था लेकिन उस समय की तकनिकी इसके लिए तैयार नहीं थी।
लेकिन कुछ समय के बाद इस प्रौद्योगिकी ने इस विचार को समझ लिया है और कुछ वर्षों के बाद इस पर उल्लेख किया गया 
1999 में, Salesforce.com ने एक साधारण वेबसाइट का उपयोग करके user को Applications वितरित करना शुरू किया। Internet के माध्यम से enterprises को applications दी गयी। जिस वजह से उस समय कंप्यूटिंग का सपना सच होता दिख रहा था
2002 में Amazon ने Amazon Web services की शुरुआत की जिसमे उन्होने स्टोरेज, कम्प्यूटेशन और यहां तक ​​कि मानव बुद्धिमत्ता जैसी सेवाएं प्रदान की 
2006 में इलास्टिक कम्प्यूट क्लाउड के लॉन्च के साथ शुरू हुआ, जो वास्तव में सभी के लिए एक commercial service थी।
2009 में, Google Apps ने Cloud computing एंटरप्राइज़ Application लांच की।  
2009 में, Microsoft ने Windows Azure लॉन्च किया बाद में Oracle और HP जैसी कंपनियां सभी इसमें शामिल हो गईं। 
इससे यह साबित होता है कि आज, Cloud computing कितनी बड़ी चीज बन गई है। ये what is cloud computing in hindi का इतिहास है

Cloud computing के उपयोग और उदाहरण (Uses and Examples of Cloud Computing in Hindi)

जैसा कि अब तक आपको अंदाजा हो गया होगा कि Cloud computing कितना बड़ा बाजार है फोर्ब्स के अनुसार, Cloud Computing को 2015 में $67B से बढ़ाकर 2020 में $160B करने का अनुमान है जो 19% की CAGR प्राप्त करता है। आज के समय में Business तेजी से Cloud में जाने लगे है 
हमारे दैनिक E-mail से लेकर फोन स्टोरेज तक, सब कुछ Cloud computing द्वारा संग्रहीत और प्रबंधित किया जाता है। आज इस सॉफ्टवेयर का समाधान विकास, परीक्षण और तैनाती के लिए तेजी से पसंद किया जाता है 
Cloud computing के उदाहरण मैसेजिंग ऐप से लेकर Audio और Video streaming services तक हर जगह हैं। यहां हम शीर्ष Cloud computing उदाहरण देखेंगे और समझेंगे कि cloud की किन विशेषताओं के कारण बाजार में इसकी लोकप्रियता बढ़ी है।

ये what is cloud computing in hindi का उपयोग और उदाहरण थे।

Scalable उपयोग:

Cloud computing विभिन्न सदस्यता मॉडल के माध्यम से Scalable Resources प्रदान करता है। इसका मतलब है कि आपको केवल आपके द्वारा उपयोग किए जाने वाले कंप्यूटिंग संसाधनों के लिए भुगतान करना होगा। इसके अलवा आपको कोई भी अलग से भुगतान करने की जरुरत नहीं है 
यदि आप computer Hardware में हमेशा के लिए निवेश नही करना चाहते है उसमे पैसे नहीं लगाना चाहते है तो ये आपके लिए स्पाइक्स की व्यवस्ता करता है 
उदाहरण के लिए, Netflix, Cloud Computing की इस क्षमता का लाभ उठाता है। जिसमे आप Streaming Service का लाभ उठाते है जो On demand Streaming Service के आधार पर काम करता है 
In-house data centers से cloud पर Migrate करने के कदम से कंपनी को अपने ग्राहक के आधार का विस्तार करने के लिए बिना Set-up और रखरखाव के महंगे Infrastructure में निवेश करने की अनुमति मिली है।

Chatbots:

जैसा कि आपने पहले जाना कि Cloud computing शक्ति और क्षमता हमें user की जानकारी इकट्ठा करने की अनुमति देती है Siri, Alexa और Google assistant – सभी क्लाउड-आधारित प्राकृतिक-भाषा के Intelligent bot हैं। 
ये चैट बॉट एकदम इंसानो की तरह व्यव्हार करने के लिए Cloud की कंप्यूटिंग क्षमताओं का लाभ उठाते हैं।

Communication

Cloud computing का उपयोग संचार में भी किया जाता है Cloud User email और कैलेंडर जैसे संचार उपकरणों को यूज़ कर सकते है Skype और Whatsapp जैसे अधिकांश Messaging और Calling app भी Cloud infrastructure का उपयोग करती है। 
सभी संदेशो और जानकारी को Service provider के Hardware पर save कर दिए जाते है ये आप अपने personal मोबाइल फ़ोन में सेव नहीं कर सकते है

उत्पादकता

Microsoft Office 365 और Google docs जैसे Business में किये जाने वाले Applications Cloud computingका उपयोग करते हैं. जिससे आप अपने दस्तावेजों, प्रस्तुतियों और Spreadsheet पर कहीं से भी किसी भी समय काम कर सकते हैं। 
जैसे आप अपने device में Data save करते है यदि आपका मोबाइल चोरी हो गया, बेकार हो गया तो ऐसी स्थिति में आपका डाटा नष्ट हो जाता है लेकिन वही यदि आपका Data cloud में सेव होता है तो वो कभी नष्ट नहीं होता है 
Cloud documents को साझा करने में भी मदद करता है और विभिन्न व्यक्तियों को एक ही समय में एक ही दस्तावेज पर काम करने में मददगार बनाता है।
कई व्यापार संगठन जैसे customer relationship management (CRM) और Enterprise resource planning (ERP) भी cloud service पर आधारित है

Backup and recovery (बैकअप और वसूली)

जब आप अपने Data को save करने के लिए क्लाउड चुनते है तो ये Data को सेव करने की जिम्मेदारी Service provider के पास भी होती है क्युकि आपकी जानकारी उनके पास भी जाती है जो आपके Business के बुनियादी ढांचे और रखरखाव के लिए ज्यादा पैसे खर्च करने से बचता है  
आपका Cloud service provider डेटा को सुरक्षित करने और कानूनी और अनुपालन आवश्यकताओं को पूरा करने के लिए पूरी तरह से जिम्मेदार होता है। 
साथ ही Cloud आपको बड़े स्टोरेज और On-demand backup की भी सुविधा प्रदान करता है। Dropbox, Google Drive और Amazon S3 Cloud backup के लोकप्रिय उदाहरण हैं।
इसके अलावा Cloud computing का उपयोग Business, Application development, Test and development, data analytics, Social Networking में भी किया जाता है

Cloud computing के लाभ (Advantages of cloud computing)

Cloud computing आपके व्यवसाय को कई लाभ प्रदान करता है। यह आपको यह निर्धारित करने की अनुमति देता है कि आपको अपने व्यवसाय से कहीं भी, किसी भी समय जुड़ने के लिए अनिवार्य रूप से एक कार्यालय 24×7 आपके पास उपलब्ध रहता है 
आज अपने डेटा तक पहुंचना और भी आसान है। जिसमे आप Smartphone, tablet, laptop, कंप्यूटर का use कर सकते है अपने व्यवसाय को Cloud पर ले जाने के कई लाभ हैं: चलिए समझते है cloud computing kya hai in hindi के लाभ नीचे दिए गए है
  • लागत बचत (Cost Savings)
  • सुरक्षा (Security)
  • लचीलापन (Flexibility)
  • नुक्सान का बचाव (Loss Prevention)
  • स्वचालित सॉफ्टवेयर अपडेट (Automatic Software Updates)
  • प्रतिस्पर्धा में बढ़त (Competitive Edge)
  • स्थिरता (Sustainability)
  • चलना फिरना (Mobility)
  • इनसाइट (Insight)
  • बढ़ा हुआ सहयोग (Increased Collaboration)
  • गुणवत्ता नियंत्रण (Quality Control)
  • आपदा बहाली (Disaster Recovery)

IT cost reduction (आईटी लागत में कमी)

Cloud computing का उपयोग करने से IT system के प्रबंधन और रखरखाव की लागत कम हो सकती है। 
अपने व्यवसाय के लिए महंगे सिस्टम और उपकरण खरीदने के बजाय, आप अपने Cloud computing सेवा प्रदाता के संसाधनों का उपयोग करके अपनी लागत को कम कर सकते हैं। आप अपनी परिचालन लागत को कम करने में कर सकते हैं क्योंकि:
System upgrade की लागत, नया Hardware और Software आपके अनुबंध में शामिल हो सकते हैं
अब आपको Specialist staff के लिए पैसो का भुगतान करने की आवश्यकता नहीं है
आपकी energy ख़त्म करने की लागत कम हो सकती है
कम समय की देरी होती हैं। ये what is cloud computing in hindi के फायदे है

Back-up and restore data

एक बार डेटा को क्लाउड में सेव करने के बाद, क्लाउड का उपयोग करके बैक-अप प्राप्त करना और उस डेटा को restore करना आसान होता है।

Improved collaboration

लोग जल्दी और आसानी से स्टोरेज के जरिये क्लाउड में जानकारी शेयर कर सकते है जिसमे वो आपको बेहतर सहयोग प्रदान करते है

Excellent accessibility (उत्कृष्ट पहुंच)

क्लाउड की मदद से हम इंटरनेट कनेक्शन का उपयोग करके पूरी दुनिया में कहीं भी, कभी भी स्टोर जानकारी को जल्दी और आसानी से एक्सेस कर सकते है

Low maintenance cost (कम रखरखाव लागत)

क्लाउड कंप्यूटिंग संगठनों के लिए हार्डवेयर और सॉफ़्टवेयर रखरखाव लागत दोनों बहुत कम होते है।

Mobility (चलना फिरना)

मोबाइल का यूज़ करके हम आसानी से कही से भी क्लाउड डेटा को एक्सेस कर सकते है

Cloud computing के नुकसान (Disadvantages of cloud computing)

Cloud computing kya hai in hindi के नुकसान/हानि नीचे दिए गए है
  • Downtime
  • सुरक्षा और गोपनीयता (Security and privacy)
  • Vulnerability to attack
  • सीमित नियंत्रण और लचीलापन (Limited control and flexibility)
  • विक्रेता बंदी (Vendor lock-in)
  • लागत की चिंता (Cost concerns)

Downtime

ज्यादा ग्राहकों के आने से सर्वर पर ज्यादा ट्रैफिक उत्पन्न हो सकता है जिससे Technical issue हो सकता है जिससे आपको अपने Business में भरी गिरावट देखने को मिल सकती है 
ऐसी प्रॉब्लम आपको तब भी हो सकती है जब आपका Internet connection डाउन हो उस समय आप क्लाउड पर Data, software या Applications तक नहीं पहुंच सकते है 
इसका साफ साफ मतलब है कि आप उपकरण तक पहुंचने के लिए Internet पर निर्भर है

Security

Cloud में डाटा को सेव करना उसके लिए जोखिम भरा हो सकता है भले ही क्लाउड सेवा प्रदाता सख्त गोपनीयता शर्तों का पालन करते हैं वो पुरे सुरक्षा नियमो का पालन करते है 
जब आप क्लाउड-आधारित तकनीक का उपयोग करते है तो आप अपने डाटा और अपनी कंपनी की Personal information को तीसरे पक्ष के एजेंट तक पहुंचा रहे हैं।
इस कारण से Cloud service providers को अक्सर सुरक्षा चुनौतियों का सामना करना पड़ता है। क्लाउड पर डेटा की मौजूदगी से डेटा चोरी का अधिक खतरा होता है 
क्युकि Hackers डाटा Security को ब्रेक करने के लिए चीजों को पता कर लेते है कुल मिलाकर आपको ये समझने की जरुरत है क्लाउड में भी आपका डाटा खतरे में होता है

Limited Control

आपको संगठन Data, tools और Apps पर सीमित पहुंच और नियंत्रण मिलता है क्युकि ये Cloud service provider द्वारा नियंत्रित किया जाता है। आपकी पहुंच सिर्फ केवल Applications, टूल और डेटा तक ही सीमित है आपको Server, server load और बुनियादी ढांचे पर नियंत्रण नहीं मिलता है

Vendor lock-in

Vendor Lock-in, Cloud Computing का सबसे बड़ा नुकसान है। एक विक्रेता से दूसरे में अपनी सेवाएं स्थानांतरित करते समय संगठनों को समस्याओं का सामना करना पड़ सकता है। 
ऐसा इसलिए क्युकि जब आप Cloud Computingservice को चुनते है तब आपको Service provider द्वारा अलग-अलग प्लेटफ़ॉर्म दिए जाते है। जिस वजह से एक cloud से दूसरे में जाने में कठिनाई हो सकती है।

Conclusion

आज हमने जाना कि Cloud computing क्या है (what is cloud computing in hindi), Cloud computing कैसे काम करती है? ,Cloud computing सेवाएं क्या उपलब्ध हैं?, Cloud computing के उदाहरण क्या हैं? इसे Cloud computing क्यों कहा जाता है? Cloud computing का इतिहास क्या है? cloud computing kya hai in hindi
बादल कितना महत्वपूर्ण है? Cloud computing के लाभ, Cloud computing के नुकसान चलिए समझते है, Cloud computing का उपयोग कौन कर रहा है? types of cloud computing,cloud computing ka itihas, cloud computing ke fayde, cloud computing ke example
उम्मीद करता हु आपको ये पोस्ट जरूर पसंद आयी होगी कृपया इस पोस्ट को share जरूर करे और पोस्ट से Related आपके पास कोई प्रश्न है तो comment जरूर करे।

मेरा नाम रोहित शुक्ला है. मैं एक Blogger, Affiliate marketer और Rohitking.com का फाउंडर हु. यहाँ मैं आपको Tech, Blogging, Affiliate marketing, Stock market, SEO, Adsense, Social media marketing से जुड़ी जानकारी हिंदी भाषा में प्रदान करता हूँ.💥 🙏

Leave a Comment