गैलेक्सी (आकाश गंगा) क्या है? Galaxy in Hindi

ब्रह्मांड में 170 बिलियन से अधिक आकाशगंगाएँ मौजूद है, एक गैलेक्सी का आकर कुछ मिलियन तारो से लेकर सौ ट्रिलियन तारों तक हो सकता है. मिल्की वे गैलेक्सी के 100 वे भाग के बराबर एक छोटी गैलेक्सी होती है. ऐसे ही कई गैलेक्सी फैक्ट है जो किसी का भी ध्यान अपनी तरफ खींच सकते है.

आज की इस पोस्ट में मैं आपको गैलेक्सी के बारे में छोटी से लेकर बड़ी हर चीज बताऊंगा आज हम जानेंगे गैलेक्सी (आकाश गंगा) क्या है (What is galaxy in hindi), ये कैसे बनी, गैलेक्सी कितने प्रकार की होती है, हमारी गैलेक्सी का क्या नाम है, गैलेक्सी (आकाश गंगा) से जुड़े फैक्ट और बहुत कुछ हम जानने वाले है.

गैलेक्सी (आकाश गंगा) क्या है (What is Galaxy in Hindi)

गैलेक्सी को हिंदी में आकाशगंगा कहते है. जब गैस, धूल, अरबों सितारे और उनके सोलर सिस्टम एक जगह पर बड़ी संख्या में एकत्र हो जाते है उसे आकाशगंगा कहते है ये सब ब्रह्मांड में एक साथ मूव करते है.

गुरुत्वाकर्षण बल की वजह से ये सब एक साथ जुड़े रहते है ये बात हुई शॉर्ट में आकाशगंगा किसे कहते है चलिए थोड़ा गहराई से इस बात करते है और जानते है आखिर गैलेक्सी क्या होती है?

जैसा कि हम सब जानते है हम एक पृथ्वी नाम के गृह में रहते है जो हमारे सोलर सिस्टम का ही एक हिस्सा है सोलर सिस्टम को हिंदी में सौरमंडल कहते है. सौर मंडल मिल्की वे गैलेक्सी का एक छोटा सा हिस्सा है.

ब्रम्हांड में बहुत सी गैलेक्सी मौजूद है हमारी गैलेक्सी का नाम मिल्की वे है. हमारी आकाशगंगा (मिल्की वे) के बीच में एक सुपरमैसिव ब्लैक होल भी है.

जब आप रात में तारो को देखते है तो असल में आप हमारी गैलेक्सी के अन्य तारो को देख रहे होते है. यदि रात बहुत अंधेरी है और आपके आस पास कोई भी रौशनी नहीं है तो आप यहाँ तक मिल्की वे के धूल भरे बैंड को भी देख सकते हैं.

मिल्की वे के अलावा कई आकाशगंगाएँ हैं. लेकिन आज तक हम उनकी गिनती नहीं कर पाए है हबल स्पेस टेलीस्कोप से नासा ने 10,000 गैलेक्सी का पता लगाया है.

जिसमे लगभग हर एक प्रकार के आकर, रंग, बनावट की वाली गैलेक्सी है कई वैज्ञानिकों का मानना है. कि ब्रह्मांड में एक सौ अरब (10 हज़ार करोड़) गैलेक्सी मौजूद है.

गैलेक्सी (आकाश गंगा) कैसे बनी? (How did Galaxy make)

गैलेक्सी बनाने का कोई ठोस प्रमाण नहीं है ज्यादातर वैज्ञानिको का मानना है कि दो गैलेक्सी के आपस में टकराने से नयी गैलेक्सी का निर्माण होता है.

चलिए इस बात चीत को थोड़ा मजेदार बनाते है आपको पता होगा हम सब रहते है घर में, कई सारे घर मिलकर बनाते है. एक एरिया, कई सारे एरिया मिलकर बनाते है एक शहर, कई सारे शहर मिलकर बनाते है एक राज्य, कई सारे राज्य मिलकर बनाते है.

एक देश, ऐसे ही कई देश मिलकर बनाते है ये पृथ्वी जो कि एक गृह है. ऐसे ही बहुत सारे ग्रह मिलकर एक सौर मंडल का निर्माण करते है. और ऐसे कई सौर मंडल मिलकर एक आकाशगंगा बनाते है.

आपको आपको पता चला होगा कि हम एक आकाश गंगा की तुलना में कितने छोटे है? गैलेक्सी हमसे जितनी बड़ी है. उससे कई गुना दूर भी है आप इसकी दुरी का अंदाजा इस बात से लगा सकते हो. एक गैलेक्सी की रौशनी हम तक आने में लाखो करोडो साल लग जाते है.

शुरूआती समय में हमे इनके बारे में नहीं पता था धीरे धीरे समय बीता टेक्नोलॉजी का विकास हुआ और हमे इनके बारे में पता चला.

इसमें सबसे बड़ा हाथ नासा की शक्तिशाली हब्बल टेलिस्कोप का है जिसने अंतरिक्ष में मौजूद कई गैलेक्सी की तस्वीर लेने का बेहतरीन काम किया है.

हम में से अक्सर लोग जब भी हम रात में आकाश की तरफ देख रहे होते है तो इनके बारे में जरूर कुछ न कुछ सोचते है हमे एक अमेजिंग फैक्ट मैं आपको बताना चाहुगा आप जो भी देख रहे है.

असल में वो छवि करोडो अरबों साल पहले कि होती है वर्तमान की बिल्कुल भी नहीं है. क्युकि गैलेक्सी से हमारे तक प्रकाश आने में काफी समय लग जाता है.

हो सकता है वर्तमान में ऐसा कुछ दृश्य हो ही ना। अगर कोई गैलेक्सी हमसे एक करोड़ प्रकाश वर्ष दूर है. तो हम उसे एक करोड़ साल पहले की अवस्था में देख रहे होते हैं.

What-is-galaxy-akashganga-in-hindi

गैलेक्सी के प्रकार (Types of Galaxies in Hindi)

1926 में अमेरिका के एक खगोल वैज्ञानिक एडविन हबल ने इनिशियल स्कीम बताई थी. जिसकी मदद से गैलेक्सी को तीन भागो में बांटा गया है.

गैलेक्सी को उनके आकर के अनुसार तीन मुख्य श्रेणियों में बांटा गया है.

  • Spiral Galaxy (सर्पिल आकाशगंगा)
  • Elliptical Galaxy (अण्डाकार आकाशगंगा)
  • Irregular Galaxy (अनियमित आकाशगंगा)

Spiral Galaxy (सर्पिल आकाशगंगा): र्पिल आकाशगंगाएं पिनव्हील्स की तरह दिखती हैं. उनके पास एक सेंट्रल डिस्क और बाहर की ओर दो या उससे अधिक घुमावदार भुजाये होती हैं. पिनव्हील्स एक खाने वाली डिस है.

Elliptical Galaxy (अण्डाकार आकाशगंगा): अण्डाकार आकाशगंगाएँ एक गोलाकार या लम्बी गोले के आकार की होती हैं. आकाश में, जहां हम केवल उनके तीन आयामों में से दो को देख सकते हैं,इसके केंद्र में अधिक तारे होते हैं और इसके बाहरी क्षेत्रों में कम तारे होते हैं.

अण्डाकार आकाशगंगाएँ आकार में दूर तक फैली होती हैं. ब्रह्मांड में छोटी अण्डाकार आकाशगंगाएँ सबसे सामान्य प्रकार की आकाशगंगा हैं। जो ज्यादा देखने को मिलती है.

Irregular Galaxy (अनियमित आकाशगंगा): असामान्य रूप आकार वाली आकाशगंगाओं को अनियमित आकाशगंगा कहा जाता है. वे बहुत आम नहीं हैं। इनमे से कई का कोई स्पष्ट केंद्र बिंदु नहीं होता है. ये दूसरी गैलेक्सी की तरह नहीं होती है. इनमे से कई का जन्म गैलेक्सीयो के आपस में टकराने से होता है.

Example: Small Magellanic clouds, Large Magellanic clouds.

हमारी गैलेक्सी का क्या नाम है?

गैलेक्सी का नाम The Milky Way गैलेक्सी है जिसमे करोडो अरबो तारे मौजूद है. सूर्य और इसके आसपास के सभी ग्रह भी इन तारो में से एक है. जो हमारी गैलेक्सी द मिल्की वे में मौजूद है. 

रात में आकाश में हम सभी सितारों को हमारे अपने गैलेक्सी में देखते हैं. मिल्की वे गैलेक्सी में 100 बिलियन से 400 बिलियन के बीच में तारे है.

इसकी दुरी 25.6 प्रकश वर्ष से 27.1 प्रकश वर्ष है मिल्की वे  की उम्र 13.51 बिलियन साल है.

मिल्की वे गैलेक्सी का सबसे बड़ा तारा Pistol Star है.

हमारी आकाशगंगा को मिल्की वे कहा जाता है क्योंकि यह आकाश में प्रकाश के एक मिल्की बैंड के रूप में दिखाई देती है ये तब होता है जब आप इसे वास्तव में अंधेरे क्षेत्र में देखते हैं.

मिल्की वे सितारों, धूल और गैस का एक विशाल संग्रह है. इसलिए इसे सर्पिल आकाशगंगा भी कहा जाता है.

क्योंकि यदि आप इसे ऊपर या नीचे से देख सकते हैं, तो यह एक कताई पिनव्हील की तरह दिखेगा. सूर्य सर्पिल भुजाओं में से एक पर स्थित है, 

जो आकाशगंगा के केंद्र से लगभग 25,000 प्रकाश वर्ष दूर है. यहां तक कि अगर आप प्रकाश वर्ष की स्पीड से से यात्रा कर सकते हैं,

तो आपको मिल्की वे के केंद्र तक पहुंचने में लगभग 25,000 साल लगेंगे। प्रकाश की चाल 300,000 किलोमीटर, या 186,000 मील, प्रति सेकंड है.

हमारी गैलेक्सी मिल्की वे से सबसे नजदीकी गैलेक्सी Canis Major Dwarf गैलेक्सी है. जो सूर्य के करीब 236,000,000,000,000,000 किमी (25,000 प्रकाश वर्ष) दूर है.

आकाशगंगाओं की सूची (List of Galaxies in Hindi)

Andromeda Galaxy: जिसे हम एंड्रोमेडा के नाम से जानते है. ये हमारी गैलक्सी मिल्की वे के सबसे नजदीक बड़ी गैलेक्सी है. जो आज के 4 बिलियन साल बाद मिल्की वे से टकराएगी और दोनों एक मिल्कोमेडा नाम की नयी गैलेक्सी में विलीन हो जायेंगे.

Cosmos Redshift 7: कॉस्मोस रेडशिफ्ट 7 गैलेक्सी, दूर की आकाशगंगाओं में सबसे ज्यादा चमकीली है. इसमें सबसे पहले कुछ तारो को शामिल किया गया था. जिसका ग्रहों और जीवन के निर्माण के लिए जरुरी रासायनिक तत्वों को बनाने में बड़ा योगदान है.

Large Magellanic Cloud: यह लोकल ग्रुप की चौथी सबसे बड़ी आकाशगंगा है और Small Magellanic Cloud (SMC) / dwarf गैलेक्सी के साथ एक जोड़ी बनाती है. dwarf गैलेक्सी मिल्की वे के पास है लेकिन इसका हिस्सा नहीं है.

Small Magellanic Cloud: यह Large Magellanic Cloud (LMC) के साथ एक पेयर बनाता है. ये मिल्की वे से तीसरी सबसे नजदीकी गैलेक्सी है. मिल्की वे से पहली सबसे नजदीकी गैलेक्सी dwarf irregular galaxy है.

जिसे Canis Major Overdensity के नाम से भी जानते है मिल्की वे से दूसरी सबसे नजदीकी गैलेक्सी Sagittarius Dwarf Spheroidal है.

Mayall's Object: इसे वीवी 32 और अर्प 148 भी कहा जाता है. ये दूसरी गैलेक्सी से बिल्कुल भी मैच नहीं होती है. ये देखने में भी बहुत अजीब लगती है ऐसा लगता है जैसे रिंग के अंदर एक ऊँगली.

और भी बहुत सी गैलेक्सी की खोज की जा चुकी है. जैसे Antennae Galaxies, Backward Galaxy, Black Eye Galaxy, Bode's Galaxy, Butterfly Galaxies, Cartwheel Galaxy, Malin 1, Medusa Merger और भी कई गैलेक्सी है.

गैलेक्सी का आकर कितना होता है (Size of galaxy)

आकाशगंगाएं लाखों करोड़ो तारों से मिलकर बनी होती हैं. ये आकाशगंगाएँ 5,000 प्रकाश-वर्ष पार हो सकती हैं. एक प्रकाश की चाल 1,079,252,849 किलोमीटर/ घंटे होती है. प्रकाश द्वारा एक साल में चली गयी दुरी 9.5 ट्रिलियन किलोमीटर होती है.

औसतन छोटी गैलेक्सी से मिल्की वे लगभग 20 गुना बड़ी है. मिल्की वे में सैकड़ों अरबों सितारे शामिल हैं. सबसे बड़ी गैलेक्सी और भी अधिक विशाल होती हैं और इनमें खरबों तारे होते हैं.

Galaxy fact (meaning of Galaxy in hindi)

सबसे बड़ी गैलेक्सी “Godzilla Galaxy” है.

सबसे छोटी गैलेक्सी Segue 1 और Segue 3 है.

पृथ्वी से सबसे दूर MACS0647-JD आकाशगंगा है जो फोटोमेट्रिक रेडशिफ्ट पर आधारित है। जो 13,300,000,000 प्रकार वर्ष दूर है.

गैलेक्सी का आकर कुछ मिलियन तारो से लेकर सौ ट्रिलियन तारों तक हो सकता है.

ब्रह्मांड में 170 बिलियन से अधिक आकाशगंगाएँ मौजूद है.

अब तक खोज की गयी सबसे दूर की गैलेक्सी z8 GND 5296 गैलेक्सी है.

हजारो की संख्या में गैलेक्सी का पता लगाया जा चूका है लेकिन उनमे से सिर्फ कुछ को ही नाम दिया गया है.

आकाशगंगा शब्द ग्रीक शब्द galaxias से लिया गया है. जिसका शाब्दिक अर्थ है "दूधिया"। इस वजह से इसका नाम गैलेक्सी या आकाश गंगा पड़ा.

ज्यादातर आकाशगंगाएं 3262 और 32615.64 प्रकाश वर्ष व्यास के बीच हैं। या बोल सकते है 1,000 and 10,000 पारसेक के बीच है. एक पारसेक लगभग 31 ट्रिलियन किलोमीटर या 19 ट्रिलियन मील के बराबर होता है.

ज्यादातर आकाशगंगाएं छोटी है. यदि इनकी तुलना मिल्की वे से करे तो ये मिल्की वे का 100 वां भाग होगी.

इन गैलेक्सी के बारे में बारीकी से जानने के लिए यहाँ क्लिक करे

लोकल ग्रुप क्या है (What is local group in Hindi)

लोकल ग्रुप को हिंदी में स्थानीय समूह कहते है. सूर्य, पृथ्वी और सौर मंडल के अन्य ग्रह मिल्की वे आकाशगंगा का हिस्सा हैं. ज्यादातर गैलेक्सी अपने ग्रुप्स बनाकर ब्रह्मांड में मूव करती है मिल्की वे एक ग्रुप के एक छोर पर स्थित है. इस ग्रुप को लोकल ग्रुप कहा जाता है.

इस ग्रुप में 50 से अधिक गैलेक्सी है लोकल ग्रुप की सबसे बड़ी गैलेक्सी को एंड्रोमेडा गैलेक्सी कहते है. इसके द्रव्यमान का केंद्र मिल्की वे और एंड्रोमेडा आकाशगंगा के बीच कहीं है.

Naked-eye galaxies क्या है (Naked-eye galaxies in Hindi)

Naked-eye galaxies को हिंदी में नग्न-नेत्र आकाशगंगाएँ कहते है. Naked-eye galaxies का मतलब है.

ऐसी आकाशगंगा जिन्हे हम नग्न आंखों से देख सकते है. इन्हे देखने के लिए आपको किसी टेलिस्कोप की जरुरत नहीं है .

लेकिन इन्हे देखने के लिए साफ मौसम होना चाहिए और लाइट बिल्कुल भी नहीं होनी चाहिए.

Naked-eye galaxies के उदाहरण Milky Way, Large Magellanic Cloud, Small Magellanic Cloud, Andromeda Galaxy, Triangulum Galaxy, Centaurus A, Bode's Galaxy, Sculptor Galaxy आदि है.

Conclusion

आज हमने जाना कि गैलेक्सी (आकाश गंगा) क्या है (What is galaxy in hindi), ये कैसे बनी, गैलेक्सी कितने प्रकार की होती है, हमारी गैलेक्सी का क्या नाम है, गैलेक्सी (आकाश गंगा) से जुड़े फैक्ट और बहुत कुछ जाना। यदि आपको ये पोस्ट पसंद आयी है तो इसे सोशल मीडिया पर शेयर जरूर करे.

मेरा नाम रोहित शुक्ला है. मैं एक Blogger, Affiliate marketer और Rohitking.com का फाउंडर हु. यहाँ मैं आपको Tech, Blogging, Affiliate marketing, Stock market, SEO, Adsense, Social media marketing से जुड़ी जानकारी हिंदी भाषा में प्रदान करता हूँ.💥 🙏

Leave a Comment

error: Content is protected !!
Share via
Copy link
Powered by Social Snap