Google App Engine क्या है? What is Google App Engine in Hindi

हेलो दोस्तों आज की पोस्ट में हम बात करेंगे कि Google App Engine के बारे में. यदि आप किसी डेवलपर से बात करे और उससे उसकी टॉप 10 टूल्स या सर्विसेज पूछे जो वो सबसे ज्यादा यूज़ करता है तो उसमे क्लाउड का नाम जरूर आएगा. क्लाउड इंडस्ट्री में गूगल क्लाउड की क्या वैल्यू है ये बात किसी को बताने की जरुरत नहीं है.

यदि बोला जाये गूगल क्लाउड इंड्रस्ट्री में राज कर रहा है तो ये बिलकुल गलत नहीं होगा. गूगल क्लाउड यूजरस Google App Engine का बहुत यूज़ करते है. आज हम जानेंगे कि Google App Engine क्या है? (What is Google App Engine in Hindi) इसके क्या फीचर्स है? इसके क्या फायदे है? etc. ...

Google App Engine क्या है? (What is Google App Engine in Hindi)

Google App Engine एक PaaS पर आधारित सर्विस मॉडल है. PaaS का मतलब Platform as a Service है जो वेब डेवलपर और इंटरप्राइजेज को एक प्लेटफॉर्म प्रदान करती है जिससे वो गूगल होस्टिंग और Tier 1 इंटरनेट सर्विसेज यूज़ कर पाते है. Google App Engine को शार्ट में GAE कहते है.

Google App Engine की मदद से वेब डेवलपर आसानी से Google cloud platform पर scalable applications बना सकते है. Scalable applications वो एप्लीकेशन होती है जिसके रिसोर्सेज को जरुरतनुसार कम-ज्यादा किया जा सके. आप GAE की मदद से एप्लीकेशन को Google data center में मैनेज कर सकते है.

GAE में बनाई गयी एप्लीकेशन में ज्यादातर JAVA  और Python  प्रोग्रामिंग भाषा यूज़ होती है. क्युकि GAE में JAVA और Python  का स्पेशल सपोर्ट मौजूद होता है. GAE में डाटा Google Big Table में स्टोर होता है. जहा से आप अपने डाटा को मैनेज कर सकते हो जैसे: Add insert, delete, update etc..  लेकिन Google Big Table में डाटा एक्सेस करने के लिए आपको Google query language का ज्ञान होना चाहिए.

App Engine, "pay as per use" टर्म को सपोर्ट करता है जिसका मलतब है आप जितने भी रिसोर्स यूज़ करेंगे आपको सिर्फ उतने ही पैसे देने होंगे. कोई एक्स्ट्रा चार्ज नहीं. रिसोर्स मतलब जैसे: CPU resources, storage, number of API calls और requests etc.

GAE सर्विस भी गूगल के बाकि प्रोडक्ट्स की तरह है मतलब ये App Engine  को यूज़ करने के लिए कुछ भाग फ्री में प्रोवाइड करते है. यदि कोई यूजर उस लिमिट को कम्पलीट कर लेता है तब उसे आगे उस सर्विस को यूज़ करने के लिए पैसे चुकाने होते है.

GAE में डेवलपर को सर्वर मैनेज और configuration के लिए चिंता नहीं करनी होती है इसके लिए यहाँ पर आपको पॉपुलर प्रोग्रामिंग लैंग्वेज और डेवलपर टूल्स का सपोर्ट मिलता है.

Features of Google App Engine in Hindi

आपको डेवलपमेंट लैंग्वेज और टूल्स का कलेक्शन मिलता है. SDK की हेल्प से आप लोकली किसी भी ऍप को develop और टेस्ट कर सकते है यहाँ सभी लैंग्वेज के अपने SDK और रनटाइम environment मौजूद होते है.

यहाँ आपको पूरी तरह से मैनेज करने वाला environment मिलता है. जिसे आप हिसाब से यूज़ कर सकते है. engine इस बात का ध्यान रखता कि आपके ऍप को सिक्योर और मैलवेयर से फ्री रखा जाये इसलिए वो firewall को इनेबल करता है

App Engine, “pay as per use” टर्म को फॉलो करता है।

Cloud monitoring और Cloud Logging, bugs को स्कैन करने में हेल्प करते है साथ ही फिक्स स्कैन भी.

App engine, आटोमेटिक -ट्रैफिक को ऍप के डिफिरेंट versions  में सेंड करता है A/B testing की हेल्प से.

Advantage of Google App Engine in Hindi

ये पॉपुलर प्रोग्रामिंग लैंग्वेज और टूल्स को सपोर्टकरता है जैसे: Node.js, Java , Ruby, C#, Go, Python , और PHP etc.

यदि आपकी पसंदीदा लैंग्वेज या टूल्स लिस्ट में नहीं है तो भी आप उसे इम्पोर्ट करके यूज़ कर सकते है GAE इसका सपोर्ट करता है

यह ओपन और बहुत flexible है.

ये कस्टम रनटाइम को सपोर्ट करता है जिसकी मदद से आप किसी भी library और framework को यूज़ कर सकते है. बस आपको इस फीचर के लिए Docker container को यूज़ करना होगा.

ये पूरी तरह मैनेज किया जाने वाला environment प्रदान करता है. मतलब आप अपनी जरुरतनुसार इसे मैनेज कर सकते है

आप अपने ऍप की हेल्थ और परफॉरमेंस Cloud Monitoring और Cloud Logging फीचर्स की मदद से चेक कर सकते है जो App Engine प्रदान करता है.

ये HTTP (Hypertext Transfer Protocol) प्रोटोकॉल यूज़ करता है

आप सिर्फ कुछ सिंपल स्टेप्स में किसी भी bug को फिक्स कर सकते है Cloud Debugger फीचर का यूज़ करके.

आप यहाँ अपने ऍप के डिफरेंट वर्शन को होस्ट कर देते है साथ ही ऍप को क्रिएट, टेस्ट, staging कर सकते है

ये आपके ऍप को पूरी सिक्योरिटी प्रदान करता है यहाँ आपका ऍप App Engine firewall और SSL/TLS से प्रोटेक्ट होता है. सबसे अच्छी बात आपको इसके लिए कोई भी एक्स्ट्रा पैसा देने की जरुरत नहीं है.

Key features of Google App Engine in Hindi

Popular programming languages

Node.js, Java , Ruby, C#, Go, Python , या PHP भाषा में अपना एप्लिकेशन बना सकते है —या अपनी खुद की भाषा रनटाइम पर ला सकते है .

Open and flexible

कस्टम रनटाइम आपको Docker container की मदद से करके किसी भी library और framework को ऐप इंजन में यूज़ करने की सुविधा देता है.

Fully managed

एक पूरी तरह मैनेज होने वाले environment की वजह से आप सिर्फ कोडिंग और ऍप बनाने में फोकस करे. बाकि चिंता गूगल ऍप इंजन पर छोड़ सकते है.

Components of Google App Engine in Hindi

  • Language runtime
  • Web based admin console
  • SDK (software development kit)
  • Scalable infrastructure

Programming Environment for Google App Engine

गूगल ऍप इंजन दो प्रोग्रामिंग लैंग्वेज को सपोर्ट करता है Java  और Python . GOOGLE APP ENGINE के Environment में जावा यूजरस के लिए Eclipse plug-in नाम का फीचर मौजूद होता है जिसका यूज़ लोकल मशीन पर GOOGLE APP ENGINE को debug करने के लिए किया जाता है.

यहाँ गूगल वेब टूल किट जावा डेवेलपर्स के लिए मौजूद है.

वही दूसरी जगह Python  के लिए Django और cherrypy फ्रेमवर्क मौजूद है लेकिन साथ ही यहाँ Python  के लिए स्पेशल environment भी मौजूद है. 

Google App Engine  कई टूल्स मौजूद है जो डाटा स्टोर और एक्सेस करने के काम आते है. डाटा को NOSQL फॉर्मेट में स्टोर किया जाता है

इस काम के लिए जावा अपने यूजरस को Data Nucleus Access के द्वारा Java  Data Object (JDO) और Java  Persistence API (JPA) इंटरफ़ेस प्रोवाइड करता है जब कि Python  SQL जैसी एक query language का यूज़ करता है जिसे GQL कहते है.

Conclusion

गूगल सर्विस हमेशा से आर्गेनाइजेशन के लिए बेस्ट चॉइस है क्युकि यहाँ उनको होस्टिंग और एप्लीकेशन को मैनेज करने के Infrastructure की फ़िक्र नहीं करनी होती है। इसलिए आप अपने बिज़नेस में ज्यादा फोकस कर पाते है।

आज हमने जाना कि Google App Engine क्या है? (What is Google App Engine in Hindi) इसके क्या फीचर है? क्या फायदे है? यदि आपको ये जानकारी पसंद आयी है तो इसे अपने दोस्तों और क्लासमेट के साथ शेयर जरूर करे।

Leave a Comment

Share via
Copy link
Powered by Social Snap